राजेंद्र सोलंकी ने फांसी लगाकर दी जान

राजेंद्र सोलंकी ने फांसी लगाकर दी जान
जोधपुर। शहर में पिछले 24 घंटों में चार लोगों की अलग अलग हादसों में मौत हो गई। किसी की करंट से मौत हुई तो किसी ने फांसी लगाकर दी जान। पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम करवाने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।
उदयमंदिर पुलिस ने बताया कि चौपसनी हाऊसिंग के शिक्षक कोलोनी निवासी राजेंद्र सिंह सोलंकी पुत्र हरिसिंह की महात्मा गांधी अस्पताल रोड पर आई सोलंकी फर्निचर क ा मालिक है। उसने कल देर शाम अपनी दुकान के अंदर की तरफ पीछे जाकर जंगले में प्लास्टिक की रस्सी लटका फांसी लगा ली। कुछ बाद उसका भाई चैन सिंह दुकान पर आया तब राजेंद्र फंदे पर लटका मिलने पर महात्मा गांधी अस्पताल लेकर पहुंचा, मगर यहां पर डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने बताया कि मृतक आर्थिक रूप से परेशान था, जिसका फर्निचर का व्यवसाय भी मंदा चल रहा है। उदयमंदिर पुलिस ने मृतक के भाई चैनसिंह की रिपोर्ट पर मर्ग दर्ज कर शव परिजनों को सौंप दिया।
दूसरी ओर करवड़ पुलिस ने बताया कि नागौर जिले के मेड़ता सिटी में सुरपुरा के रहने वाले बक्सा राम पुत्र शिवलाल मेघवाल को हाइड्रो के्रन से घायल होने पर मथुरादास माथुर अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। मगर इसकी कल दिन में मौत हो गई। इसी प्रकार बेरू के निकटवर्ती विश्रोईयों की ढाणी निवासी घेवरचंद पुत्र रामचंद्र विश्रोई को ट्यूबवैल पर कार्य करते करंट लगने पर अस्पताल लाया गया। इसकी उपचार के समय मौत हो गई।
वहीं सोडों की ढाणी में रहने वाले श्रवण पुत्र ख्यालीराम मेघवाल को संदिग्ध हालात में अस्पताल लाया गया। इसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। बताया गया कि उसकी अचानक तबीयत बिगडऩे से मौत हुई है। सूरसागर पुलिस ने कार्रवाई की।