मिठाई के डिब्बों पर मिलेगा संदेश: जोधपुर शहर स्वच्छ व सुंदर बने, बेटी बचाओं , कन्या भू्रण हत्या रोकें

मिठाई के डिब्बों पर मिलेगा संदेश:
जोधपुर शहर स्वच्छ व सुंदर बने, बेटी बचाओं , कन्या भू्रण हत्या रोकें

P1240621
जोधपुर,। अब शहर में मिठाई विक्रेता मिठाई के डिब्बों पर सामाजिक संदेश वाले स्लोगन अंकित कर मिठाई का विक्रय करेंगे। इन डिब्बों पर बेटी बचाओं कन्या भू्रण हत्या रोकने और स्वच्छ जोधपुर के स्लोगन देखने को मिलेंगे। यह जानकारी आज मिठाई नमकीन व्यपारी एसोसियेशन के अध्यक्ष आनंद भाटी ठाकर ने प्रेस वार्ता में दी। उन्होंन बताया कि मिठाई नमकिन व्यापारी एसोसिएशन की आम सभा शनिश्चर जी का थान ट्रस्ट के सभागार हॉल में हुई। जिसमें जोधपुर शहर से मिठार्र्ई व नमकिन के व्यवसाय करने वाले व्यवसायी करीब 300 सदस्य आमसभा में शामिल हुए व राज्य सरकार द्वारा मावे की ब्रिकी पर तुरन्त प्रभाव से रोक हटाने का निर्णय लिया गया इस निर्णय के लिए मिठाई नमकिन व्यापारी एसोसिएशन व उनके समस्त सदस्यों ने मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे व स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ का धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होने बताया कि निर्णय लिया गया कि जोधपुर की पहचान खान-पान की वजह से है अत: सभी सदस्यों ने शपथ पुर्वक निर्णय लिया कि जो मिठाई विक्रेता जोधपुर में आमजन को स्वच्छ खानपान उपलब्ध नहीं करवाएगें उसके खिलाफ एसोसिएशन कार्यवाही करेगी व प्रशासन को उसकी शिकायत करेगी।
उन्होने बताया कि त्योहारी सीजन पर जगह-जगह अस्थाई मिठाई व नमकिन की दुकानें लगा लेते है। उनके खिलाफ प्रशासन को अवगत करवाएगी व उनकी अस्थाई मिठाई व नमकीन की दुकानें लगाने वाले न तो सेल्स टेक्स नम्बर लेते है और नही फुड लाईसेन्स लेते है और न ही निगम से लाईसेन्स लेते है। ग्राहकों को खराब माल मिलने पर किसी से शिकायत नही कर पाते है जिससे आमजन को भी नुकसान होता है। मिठाई व नमकीन बेचने वाले 365 दिन सेल्स टेक्स, फुड लाईसेन्स व निगम परमिशन लेकर अपनी स्थाई दुकानों पर व्यवसाय करते है। त्यौहारों के दिन अस्थाई दुकान वाले सस्ता माल बनाकर बेचते है और त्यौहारा के बाद अपनी अस्थाई दुकानें बंद कर देते है। मिठाई के डब्बों का तौल मिठाई के साथ नही तौला जाएगा। हर सदस्य दुकान पर मिठाई के डब्बों का वजन अलग से अंकित करेगा। जिससे ग्राहक को ध्यान रहे। जोधपुर शहर स्वच्छ व सुन्दर बने इसके लिए एसोसिएशन मिठाई के डब्बों पर स्लोगन व सरकार के स्वच्छ भारत अभियान में भागीदारी निभाएगी। कच्चा माल,घी,तेल व दुध शुद्ध काम में लेगें। घी,तेल व दुध में मिलावट है तो उनके खिलाफ प्रशासन को शिकायत करेगें।