बरसात का पानी की आवक से सियाट ग्राम पचायत में सभावना जगी

DSCN0013पाली:- जल सग्राह के लिए राज्य व केन्द सरकार कई  योजना चला कर अघिक से अघिक बरसात का पानी एकत्रित करने के लिए कदम उठा रही हेजिसमें महानरेगा के तहत गवाई तालाबो की खुदाई करना प्रमुख है । इन तालाबो के विस्तार में रेलवे लाइन के निर्माण  का कार्य भी अहम भूमिका निभारहा है ! इन दिनो दिल्ली -अहमदबाद रेल मार्ग का दौहरी करण का काम युद्व रतर पर चल रहा है । जिसके लिए सरकार ने रेलवे लाइन के निकट ग्रामपचायतो के गवाई तालाब से मिटटी रेलवे लाइन का निर्माण कर रही एजेन्सी को देने प्रस्थावित दिया गया है  जिसके अन्तगर्त कुछ ही दिनो मे तालाबमे काफी खुदाई कर झाडियो को ़हटा कर पानी आवक के रास्ते बनाने से आने वाले दिनो मे होने वाली बारिष से इन छोटे तालाबो मे काफी बरसात कापानी आने की सभवना बन गई है ।

 

ऐसा ही एक कार्य जिले की सोजत पचायत समिति की सियाट ग्राम पचायत के गवाई तालाब से इन दिनो मिटटी मषीन से खुदाई कर रेलवे लाइन केनिर्माण मे लेजाई जारही है जिससे गवाई तालाब का काफी विरतार होगा साथ  तालाब मे बरसात  का पानी अच्छी आवक  होगी उसके लिए भी पानीआने  का रारते बनाऐ जा रहे  जिससे अगामी दिनो मे होने वाली बारिष से गवाई तालाब मे काफी पानी की आवक होने की सभावना जगी  । गवाई तालाबमे अघिक पानी की आवक होने से भूमिगत जलरतर मे भी बढौती होगी । रेलवे लाइन निर्माण मे गवाई तालाब की मिटटी खुदाई कर ले जाने से ग्रामपचायतो  को विकाय राषि की आय होने के साथ बिना राषि खर्च किऐ  गवाई तालाब का विस्तार होने ा कटिली झाडियो को हटाने से  बरसात के पानीकी आवक का रास्ता बना जा रहा है । जिससे ग्राम पचायते विकसित होने के साथ जल स्रोत का विकास  होगा  ।

इसके लिए क्या है मापदण्ड:-  खनिज विभाग व जल संसाधन विभाग की स्वीकुति के बाद गवाई तालाब की दीवार को सुरक्षित रखकर 1.50 मीटर यानिछ फीट से कुछ कम गहरी खुदाई मुरम नही आने तक बरसादी पानी की आवक का रास्ता अवरोधक नही हो

कया कहना: ग्राम पंचायत सियाट सरपच श्रीमति किरण सोनी ने कहॉ कि इतना काम महानरेगा में करवाते तो करीब दो साल का समय लग जाता मगरमषीन से खुदाई होने मिटटी का सही उपयोग होने साथ तालाब का भी विस्तार होगा ओर आने वाली बारिष में हर बार से अधिक पानी सग्राह हो सकेगा !