फीफा के सात बड़े अधिकारी गिरफ्तार, 900 करोड़ रुपए की घूस लेने का आरोप

fifa 7 officers

विश्व के सबसे लोकप्रिय खेल फुटबॉल में आज बड़े भ्रष्टाचार का पर्दाफाश करते हुए स्विटजरलैंड की पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय फुटबाल महासंघ (फीफा) के उपाध्यक्ष सहित सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

स्विस पुलिस ने अमेरिका के न्याय विभाग के आग्रह पर यह कार्रवाई की है जिसने पिछले 25 साल के दौरान फीफा में रिश्वतखोरी और धन की लूटखसोट को लेकर 14 व्यक्तियों के खिलाफ आरोप लगाये हैं।  आज तड़के स्विट्जरलैंड पुलिस ने इस खेल की शीर्ष संस्था फीफा के उपाध्यक्ष जेफरी वेब सहित सात अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। वेब के अलावा गिरफ्तार किये गये इन अधिकारियों में एडुआर्डो ली, जूलियो रोचा, कोस्टास टक्कस, यूगेनियो फिग्यूरिडो, राफेल इसक्यीव,और जोश मारिया मारिन शामिल हैं।

इन अधिकारियों पर अमेरिका की संघीय जांच एजेंसी (एफबीआई) ने 1990 से आज तक अरबों रुपये घूस लेने का आरोप लगाया है। ये लोग अमेरिका और लैटिन अमेरिकी देशों में फुटबॉल टूर्नामेंट के आयोजन के दौरान मीडिया, मार्केटिंग और स्पॉनशरशिप में घपला करते रहे हैं।

शुक्रवार को फीफा के अध्यक्ष का चुनाव होने वाला है। फीफा के मौजूदा अध्यक्ष सेप ब्लैटर पांचवीं बार अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ रहे हैं। सेप ब्लैटर पर फिलहाल कोई आरोप नहीं लगाया गया है। चुनाव में उनके सामने हैं जॉर्डन के रॉयल प्रिंस अली बिन अल-हुसैन।

स्विट्जरलैंड के न्याय मंत्रालय ने बयान में कहा, “रिश्वतखोर संदिग्ध  (खेल मीडिया और खेलों को बढ़ावा देने वाली कंपिनियों के प्रतिनिधि) कथित तौर पर फुटबॉल पदाधिकारियों, जिनमें फीफा के 9 प्रतिनिधि और इसके उप संगठनों के पदाधिकारी शामिल हैं, को दस करोड़़ डॉलर से अधिक का भुगतान करने की योजना में संलिप्त पाये गये हैं।”

बयान में कहा गया है, ‘‘अमेरिका के अनुरोध के अनुसार, इन अपराधों की तैयारियां अमेरिका में की गयी और भुगतान अमेरिकी बैंकों के जरिये किया गया।” स्थानीय ज्यूरिख पुलिस ने ज्यूरिख के एक बड़े होटल से गिरफ्तारियां की। फीफा के प्रवक्ता ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल की शीर्ष संस्था इस स्थिति पर स्पष्टीकरण चाहता है और गिरफ्तारी पर टिप्पणी नहीं करेगा।