पेंटर की हत्या का खुलासा: धर्म भाई की आड़ में निकले अवैध संबंध

पेंटर की हत्या का खुलासा: धर्म भाई की आड़ में निकले अवैध संबंध
टैक्सी चालक गिरफ्तार, बोरूंदा से पकड़ा, कपड़े की बदबू व मामा घर आने की बात पर गहराया पुलिस का संदेह
जोधपुर। शहर के अंदरूनी क्षेत्र नागौरी गेट में जालोरियों का बास के रहने वाले पेंटर सवाई सिंह की हत्या का पुलिस ने 24 घंटों में खुलासा करते हुए एक टैक्सी चालक को गिरफ्तार किया है। उसके मृतक की पत्नी से अवैध संबंध होने की आरंभिक तौर पर पुष्टि हुई है। मृतक की पत्नी का धर्म भाई बना हुआ था। वारदात के बाद आरोपी फरार होकर बोरूंदा चला गया। उसे रात को पुलिस की स्पेशल टीम ने वहां से दस्तयाब कर लिया। उससे पूछताछ चल रही है।
डीसीपी प्रीति जैन ने बताया कि मंगलवार की रात को सूरसागर पुलिस थाना क्षेत्र के निकटवर्ती ख्याहिश गार्डन होटल के नजदीक एक व्यक्ति की हत्या किया हुआ शव मिला था। इसकी पहचान बाद में नागौरी गेट के अंदर जालोरियों का बास गली नंबर 5 निवासी सवाई सिंह पुत्र सत्य नारायण के रूप में की गई थी। उसकी हत्या गला घोंटकर की गई।
इस पर एसीपी डॉ. दुर्ग सिंह राजपुरोहित के नेतृत्व में थानाधिकारी नितिन दवे और पुलिस की स्पेशल टीम गठित कर कार्रवाई शुरू की गई। पुलिस ने इस प्रकरण में उदयमंदिर आसन तापडिय़ा बेरा के पास रहने वाले इमरान पुत्र कमरूदीन लुहार मुसलमान को गिरफ्तार किया है। इससे पूछताछ चल रही है।
पहले क ी मृतक की पहचान: डीसीपी प्रीति जैन ने बताया कि इस ब्लाइंड मर्डर को खोलने के लिए पुलिस के पहले मृतक की पहचान करना जरूरी था। उसके शहर की अंदरूनी क्षेत्र निवासी होने के संदेह में उसकी फोटो खांडा फलसा, नागौरी गेट व महामंदिर थाने में भेजी गई। कल सुबह ही मृतक का एक रिश्तेदार व नागौरी गेट थाने का हिस्ट्रीशीटर हरीश थाने पहुंचा था। तब उसे फोटो दिखाई गई। इस पर मृतक की पहचान हो गई।
टैक्सी चालक पर संदेह: पुलिस ने जांच में पाया कि हत्यारा टैक्सी वाला हो सकता है। कारण कि मृतक के गले में मिला कपड़ा टैक्सी के साफ सफाई में प्रयुक्त हो रखा था, साथ ही उससे ऑयल की बदबू आ रही थी।
टैक्सी टायरों के निशान शहर की तरफ: टैक्सी टायरों के निशान शहर की तरफ यानी किला रोड की तरफ से आने का संकेत दे रहे थे। इस पर साफ जाहिर हो गया कि मृतक व हत्यारा शहर के अंदर का रहने वाला है।
पहले पिलाई शराब फिर सीने पर मारे मुक्के: हत्या के आरोप में पकड़े गए इमरान ने पुलिस को बताया कि मंगलवार की रात को ही उसने मृतक सवाई सिंह के साथ बैठकर शराब पी थी, फिर उसके साथ मारपीट करते हुए उसने सीने पर दो तीन मुक्के मारे, जिससे सवाई सिंह निढाल हो गया। इमरान ने बाद में कपड़े से गला घोंट डाला और घबरा गया। इस पर वह शव को लेकर सूरसागर पहुंच गया।
बच्चों ने बताया मामा आते थे: पुलिस जांच में सामने आया कि इमरान ने सवाई सिंह की पत्नी को अपनी धर्म बहन बना रखा था। मगर उसके साथ अवैध संबंध थे। सवाई सिंह को इमरान के घर आना जाना पसंद नहीं था। साथ ही सवाई सिंह बीमार भी रहता था। उसकी पत्नी खुद सवाई सिंह से परेशान थी। मगर बच्चों ने जानकारी दी कि मामा इमरान घर आते है और वे टैक्सी चलाते है।
पुलिस की दबिश पर फरार: पुलिस ने जब इमरान के घर पर दबिश दी तब वह फरार हो गया। इसके बोंरूंदा भागने की जानकारी मिली। वहां पर किसी रिश्तेदार का घर होना बताया जा रहा है। रात को पुलिस ने उसे बोरूं दा से पकड़ लिया।
टैक्सी के टायर बदल डाले: वारदात के बाद इमरान ने अपनी टैक्सी के टायर भी बदल डाले, ताकि किसी को शक ना हो। ेे
मृतक की पत्नी से पूछताछ: पुलिस मृतक की पत्नी से भी पूछताछ में जुटी है। उसका इस घटना में कितना रोल मॉडल रहा है, पता लगाया जा रहा है। फिलहाल हत्या में केवल इमरान का हाथ होना बताया जा रहा है।