पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव आज से कौशल विकास होगी रजत जयंती वर्ष की थीम

जोधपुर, एक जनवरी। पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प का 25 वंा उत्सव रजत जयंती वर्ष के रूप में 2 जनवरी से शुभारंभ होगा । केन्द्रीय सूक्ष्म, लघु एवं एवं मध्यम उद्य़म राज्य मंत्री गिरिराज सिंह 2 जनवरी को मध्यान्ह 4 बजे रावण का चबूतरा स्थल पर उत्सव का उद्घाटन करेंगे तथा उद्योग मंत्री गजेन्द्रसिंह खींवसर समारोह की अध्यक्षता करेंगे। कौशल विकास एवं मेड इन इंडिया थीम पर फोकस रहने वाला उत्सव 11 जनवरी तक आयोजित किया जाएगा।

उत्सव संयोजक मेघराज लोहिया ने बताया कि उद्घाटन समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में संासद गजेन्द्रसिंह शेखावत उपस्थित रहेंगे। इसमें 400 से भी अधिक स्टाल्स स्थापित की गई हैं तथा सभी की बुकिंग हो चुकी है। राष्ट्रीय लघु उद्य़ोग निगम द्वारा एस सी-एस टी के उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए 75, 80 व 95 प्रतिशत तक रियायत व अनुदान प्रदान किया जाएगा।

उत्सव का प्रमुख आकर्षण रहेगा स्वामी विवेकानंद केन्द्रीय पंाडाल:-

औद्योगिक विकास की तस्वीर लिए विवेकानंद केन्द्रीय पंाडाल 135 गुणा 135 फीट के डोम में बनाया गया है। इसी तरह संगोष्ठी एवं संास्कृतिक कार्यक्रम कक्ष भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी कक्ष होगा। उत्सव आयोजन के दौरान बहुपयोगी विचार गोष्ठियंा होगी। विचार गोष्ठियों में युवाआंे के कौशल विकास के लिए ई पी सी एच व राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम द्वारा की स्किल डवलपमेंट पर संगोष्ठी तथा रेल्वे द्वारा खुली चर्चा तथा जी एस टी सहित विभिन्न विषयों पर होगी। उत्सव में समाज के सभी समूहों की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए प्रतियोगिताएं व प्रश्नोतरी भी हांेगे।

राष्ट्रीय स्तरीय कवि सम्मेलन के साथ ही होंगे विभिन्न संास्कृतिक कार्यक्रम:-

राष्ट्रीय स्तरीय कवि सम्मेलन उत्सव का प्रमुख आकर्षण रहेगा। इसमें कवि सुरेन्द्र शर्मा, सुरेन्द्र दुबे, विनीत चौहान, प्रवीण शुक्ल, दिनेश बाबरा, पूनम वर्मा व राजेन्द्र राजन है। लाफ्टर शो के रूप में अन्य आकर्षण होगा जिसमें प्रताप फौजदार, चिराग जैन, शंभु शिखर, रासबिहारी गौड़ व संजय झाला आदि दर्शकों को गुदगुदाएंगे। मशहूर कव्वाल दल अहसान भारती घुंघरूवाला की कव्वालियंा और लोक संगीत व नृत्य के भी कार्यक्रम होंगे।

उत्सव स्वच्छता की नई मिसाल बनेगा:-

उत्सव को ग्रीन एंड क्लीन रखना इस बार का उद्देश्य रहेंगा। सुरक्षा की दृष्टि से हर पॅाइंट पर सी सी टी वी लगाए गए है। इस बार फूडस कक्ष में भी फूडस की क्वालिटी पर पूरा ध्यान दिया जाएगा।