देश के नक्शे से गायब हो गए 35 स्मारक

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग द्वारा संरक्षित 35 स्मारक देश के नक्शे से गायब हो चुके हैं। इनमें से आठ उत्तर प्रदेश में हैं। ये संरक्षित तो हैं मगर जगह की जानकारी नहीं होने के कारण इन्हें सूचीबद्ध नहीं किया जा सका है। वक्त के थपेड़ों ने निशान गायब कर दिए हैं।

sher-shah-suri-5167cd2870ef5_l

यह खुलासा संसद में पूछे गए एक सवाल के जवाब में हुआ है। पूछा गया था कि मसूरी और नैनीताल की प्राचीन इमारत, राजस्थान में 12वीं सदी का मंदिर, असम में शेरशाह सूरी की बंदूक समेत अन्य स्मारक कहां गए?

सैकड़ों साल तक उत्तर भारत में शक्ति का केंद्र रही दिल्ली में ऐसे स्मारकों की संख्या एक दर्जन है। एएसआई ने गायब स्मारकों की जो सूची जारी की है उनमें दिल्ली के 12, उत्तर प्रदेश के आठ, जम्मू-कश्मीर और उत्तराखंड के तीन-तीन, गुजरात, हरियाणा, राजस्थान के दो-दो, अरुणाचल प्रदेश, असम और कर्नाटक के एक-एक स्मारक शामिल हैं।

एएसआई के डायरेक्टर (एक्सप्लोरेशन एंड एक्सकेवेशन) एसके मित्रा ने जानकारी दी है कि ऐसे स्मारकों को अनट्रेकेबल करार दिया गया है। उन्होंने बताया कि विशेषज्ञ इनकी खोज कर रहे हैं। इनके गायब होने का बड़ा कारण राज्य, जिले और तहसीलों का पुनर्गठन है।

पुराने दस्तावेजों में इनका जिक्र पुराने गजट के अनुसार था। जिलों के पुनर्गठन के बाद नए खसरा नंबर आवंटित कर दिए गए। इसके चलते इनका वास्तविक लोकेशन तलाशना मुश्किल हो गया।

एएसआई के डायरेक्टर प्रवीन श्रीवास्तव का कहना है कि लंबे समय से संरक्षित स्मारकों की सूची को अपडेट नहीं किया गया है। इससे भी इनकी खोज में मुश्किल आ रही है।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.