जोधपुर के राहुल बोड़ा बने मारवाड़श्री

मारवाड़ समारोह में हुई रोचक प्रतियोगिताएं

जोधपुर के राहुल बोड़ा बने मारवाड़श्री

जोधपुर, 26 अक्टूबर।  राजस्थान पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित दो दिवसीय मारवाड़ समारोह में सोमवार को उम्मेद राजकीय स्टेडियम में आयोजित प्रतियोगिता में जोधपुर के राहुल बोड़ा मारवाड़श्री बने।

मारवाड़ समारोह में हुई रोचक प्रतियोगिता में राहुल बोड़ा मारवाड़श्री में विजेता बनकर प्रथम स्थान पर रहे। उनको मारवाड़श्री का खिताब पहनाया गया तथा अन्य पुरस्कार दिए गए। दूसरे स्थान पर अनिल पुरोहित तथा तीसरे स्थान पर जेठाराम व महेश व्यास रहे। इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले बालक विवेक वर्मा, शाहिद अली व शाहिर अली को विशेष प्रोत्साहन पुरस्कार दिए गए। मूंछ प्रतियोगिता में रामसिंह राजपुरोहित विजेता रहे जबकि जेठाराम ने दूसरा व भंवरसिंह, महेश व्यास ने तीसरा स्थान प्राप्त किया।

साफा बांधने की प्रतियोगिता में चनणसिंह ने उत्कृष्ट साफा बांधकर पहला स्थान प्राप्त किया जबकि प्रमोद बिस्सा ने दूसरा व आबिद साफा, अरशद अली व दुर्गाराम ने तीसरा स्थान हासिल किया। इन प्रतियोगिताओं में निर्णायक राजस्थान संगीत नाटक अकादमी के सचिव महेश पंवार, विजयलक्ष्मी गोयल, सहायक निदेशक जनसम्पर्क आनंदराज व्यास एवं विजय बालानी थे।

विदेशी सैलानियों एवं स्थानीय लोगों के बीच हुई रस्साकसी दौड़ में विदेशी टीम के खिलाडि़यों ने विजय हासिल की। मटका दौड़ में पुष्पा ने पहला, प्रतिभा ने दूसरा व निलोफर ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। इस प्रतियोगिता में मेक्सिको की एण्ड्रयू, होलेण्ड की मिली एवं ओरिजनेस्का ने क्रमशः पहला, दूसरा व तीसरा स्थान अर्जित किया। इन प्रतियोगिताओं का संचालन जिला खेलकूद प्रशिक्षण केन्द्र के प्रशिक्षक विक्रमसिंह आर्य, प्रेमसिंह, सीताराम प्रजापत एवं उमा दाधीच ने किया।

प्रतियोगिता के विजेता-उपविजेताओं को अपर जिला कलेक्टर मानाराम पटेल, राजस्थान संगीत नाटक अकादमी के सचिव महेश पंवार, पर्यटन विभाग के सहायक निदेशक विकास पंड्या, जयप्रकाश राखेचा एवं पूर्व विधायक जुगल काबरा ने पारितोषिक प्रदान किए। इंग्लेण्ड की ऑलीवा को फेन्सी ड्रेस में श्रेष्ठ राजस्थानी वेशभूषा के लिए पुरस्कार दिया गया तथा प्रेरक जाफरान को विशेष प्रोत्साहन पुरस्कार प्रदान किया।

समारोह में अन्तर्राष्ट्रीय लोक कलाकारों ने लोकगीत की स्वरलहरियों तथा चकरी व कालबेलिया नृत्य की प्रस्तुति ने उपस्थित दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया। पर्यटन विभाग के निदेशक विकास पंण्ड्या ने अतिथियों का स्वागत एवं आभार व्यक्त किया। संचालन महेन्द्र लालस ने किया।

पर्यटन विभाग के सहायक निदेशक विकास पंण्ड्या ने बताया कि शरद पूर्णिमा की धवल चांदनी में ओसियां के दूधिया रोशनी में रेतीले धोरों पर मारवाड़ समारोह का समापन होगा। इसमें शाम 7 बजे से आकर्षक लोक संगीत का कार्यक्रम होगा। इसी दिन रात दस बजे धोरों पर आसमान छूती रंग-बिरंगी आतिशबाजी का भी आयोजन भी किया जाएगा।